origin of islam in hindi

  


मुहम्मद साहब :

➜ इनका जन्म 29 अगस्त 570 ई. में मक्का में हुआ था । इनके पिता अब्दुल्ला तथा माता अमीना कुरैश नामक कबीले से सम्बन्धित थी।

➜  इनके पिता की मृत्यु इनके जन्म से पूर्व तथा माता की मृत्यु 6 वर्ष के बाद हुई, इस कारण इनका पालन-पोषण उनके चाचा अबु तालीब के द्वारा किया गया।

➜ पैगम्बर मुहम्मद साहब ने 13 विवाह किये थे। 25 वर्ष की आयु में उन्होंने 40 वर्षीय खदीजा नामक एक विधवा स्त्री से उन्होंने विवाह कर लिया।इनकी सबसे प्रिय पत्नी आयशा थी, जोकि अबुबक्र की पुत्री थी।

➜ मुहम्मद साहब प्रायः मक्का के समीप हीरा नामक पहाड़ी गुफा में ध्यान लगाते थे। इसी गुफा में 40 वर्ष की आयु में 610 ई में  जिब्राईल ने उनको अल्लाह का पैगाम सुनाया। उनको यहीं ईश्वर का संदेश मिला कि, अल्लाह के अतिरिक्त कोई दूसरा नहीं है और  मुहम्मद उनके पैगम्बर हैं।

➜ खदीजा पहली मुसलमान बनी ।

➜ 619 ई में चाचा अबु तालीब और खदीजा की मृत्यु के बाद पैगम्बर मुहम्मद और उनके आनुयायियो पर हमले बढ़े तथा इन हमलो से बचने के लिए 24 सितम्बर 622 ई में पैगम्बर मुहम्मद मक्का से मदीना हिज्र किये , इसी तिथि को मुसलमानों के सन – ए – हिजरी की शुरुआत होती है । हिजरी सम्वत चन्द्रमा की गतिविधियों पर आधारित है । ➜ 8 वर्ष के संघर्ष के बाद पैगम्बर मुहम्मद ने मक्का पर आधिकार कर लिया तथा सम्पूर्ण अरब पर इस्लामिक राज्य को स्थापित किया । 8 जून 632 ई में मदीना में इनकी मृत्यु हुई ।


इस्लाम के सिद्धांत :

➜ यह तौहीद (एकेश्वरवाद)  में विश्वास करता है ।

➜ पैगम्बरों में विश्वास करता  है ।

➜ इस्लाम मूर्ति पूजा और बहुदेववाद को अस्वीकार करता है ।

➜ पुनर्जन्म के स्थान पर पुर्नउत्पति और कयामत के दिन में विश्वास करता है।


इस्लाम के स्तम्भ : इस्लामिक  सिद्धांतो को अमल में लाने के लिए मुसलानो से पांच कार्यो की अपेक्षा की जाती  है ।

➜ कलमा पढना

➜ 5 बार नमाज पढना

➜ रमजान के महीने में रोजा रखना

➜ जकात देना

➜ हज करना (मक्का की यात्रा)


इस्लाम के सम्प्रदाय :

पैगम्बर मुहम्मद की मृत्युके बाद उत्तराधिकार को लेकर इस्लाम दो सम्प्रदायों में बटा गया।➜ सुन्नी :- मुसलमानों का वह सम्प्रदाय जिन्होंने क्रमशः अबुबक्र, उमर, उस्मान, अली को उत्तराधिकारी माना, वे सुन्नी कहलाये । अबुबक्र, उमर, उस्मान, अली को पवित्र खलीफा माना जाता है ।

➜ सिया :- जिन्होंने सिर्फ अली को पैगम्बर का उत्तराधिकारी  सिया कहलाये । अली पैगम्बर  मुहम्मद के दामाद थे , इनका विवाह पैगम्बर  मुहम्मद की पुत्री फातिमा जहरा से हुआ था। इनके दो पुत्र थे , हसन और हुसैन ।


खलीफा और खिलाफत :

➜ पैगम्बर के उत्तराधिकारी खलीफा कहलाये। ये इस्लामिक राज्य के धार्मिक और राजनीतिक प्रधान माने जाते थे । 

➜ सुन्नी परम्परा के आनुसार पैगम्बर  मुहम्मद के बाद क्रमशः अबुबक्र, उमर, उस्मान, अली खलीफा हुए, इन्हें पवित्र खलीफा माना जाता है ।

➜ अली की हत्या कर मुबईया के द्वारा उमईया वंश की स्थापना की गयी और खलीफा पद को वंशगत बना दिया गया । इनकी राजधानी दमिश्क थी ।

➜ उमईया वंश के पतन के बाद अब्बासी खालिफाओ की स्थापना हुई , इनकी राजधानी बगदाद थी । इस्लाम का स्वर्ण काल अब्बासी खालिफाओ का समय माना जाता है। 1258 ई में मंगोल शासक हलाकू खां ने बगदाद के खलीफा अलमुस्त सम की हत्या कर दी ।

➜1924 में तुर्की के राष्ट्रपति कमालपाशा ने खलीफा के पद को अंतिम रूप से समाप्त कर दिया।  

शरीयत : 

➜ इस्लामिक कानूनों को शरीयत कहा जाता है । कुरान, हदीस, इज्मा और कयास शरीयत के प्रमुख स्त्रोत है।

Previous Post Next Post